बाबा साहब के सपने को साकार करेंगे अखिलेश यादव

बाबा साहब के सपने को साकार करेंगे अखिलेश यादव

समाजवादी आंबेडकर वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मिठाई लाल भारती ने कहा संविधान निर्माता बाबा साहब के अधूरे सपने को समाजवादी पार्टी पूरा करेगी। उनके हर सपने को पूरा करने के लिए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव दृढ़संकल्पित हैं। भाजपा की केंद्र व प्रदेश सरकार संविधान का उल्लंघन कर रही है।

सिद्धार्थनगर : समाजवादी आंबेडकर वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मिठाई लाल भारती ने कहा संविधान निर्माता बाबा साहब के अधूरे सपने को समाजवादी पार्टी पूरा करेगी। उनके हर सपने को पूरा करने के लिए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव दृढ़संकल्पित हैं। भाजपा की केंद्र व प्रदेश सरकार संविधान का उल्लंघन कर रही है। इन्हें सत्ता से बाहर करने के लिए अनुसूचित वर्ग को आगे आना होगा।

उन्होंने यह बातें सपा जिला कार्यालय में बुधवार को हुए चौपाल में कही। कहा कि भाजपा सरकार आरक्षण खत्म करने का कुचक्र रच रही है। वहीं कांग्रेस की नीतियां भी अनुसूचित व पिछड़ा वर्ग विरोधी है। इन दलों से सावधान रहने की आवश्यकता है। चुनाव जब आता है तो भाजपा के लोग अनुसूचित व पिछड़ा वर्ग को गुमराह करने लगती है। हाथरस कांड इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है। संविधान बचाने की लड़ाई केवल सपा ही लड़ रही है। पंचायती राज्य व्यवस्था में आरक्षण का लाभ देने का काम भी किया। देश व प्रदेश के लिए भाजपा सरकार स्वयं में ही एक समस्या बन गई है। अध्यक्षता गंगा राम चौधरी व संचालन कलाम सिद्दीकी ने किया। जिलाध्यक्ष लालजी यादव, पूर्व विधायक विजय पासवान, अनिल सिंह, प्रदीप पत्थरकट्ट, कन्हैया प्रसाद कन्नौजिया, अनिल गौतम, बहरैची प्रेमी, अनीता द्विवेदी, विभा शुक्ला, सुशीला गौतम, कामता यादव, अजय चौधरी, रामकुमार चिंकू यादव, उग्रसेन सिंह, मुहम्मद जमील सिद्दीकी, अजय यादव, त्रिभुवन यादव, अयोध्या साहू, सत्यनारायण यादव, जोखन चौधरी, विजय चौधरी, गोपाल प्रसाद, विजय यादव, सोनू यादव आदि मौजूद रहे। 21 सूत्रीय मांगों के समर्थन में धरना देंगे कर्मचारी सिद्धार्थनगर : कर्मचारी शिक्षक अधिकारी एवं पेंशनर्स अधिकार मंच की ओर से बुधवार को बर्डपुर ब्लाक सभागार में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद की बैठक हुई। 21 सूत्रीय मांगों के समर्थन में 28 अक्टूबर को कलेक्ट्रेट परिसर में होने वाले धरना प्रदर्शन को सफल बनाने की रूपरेखा बनाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.